Panchwa Kalma in Hindi | पांचवा कलमा हिंदी में लिखा हुआ 2023

इस लेख में हम पांचवा कलमा हिंदी में जानेंगे। हम Panchwa Kalma in Hindi में लिख रहे है ताके जो लोग कलमा हिंदी में पढ़ना चाहे है वो आसानी से पढ़ सके। इससे पहले भी हम Pehla Kalma, Dusra Kalma, Teesra Kalma और Choutha Kalma हिंदी में लिख चुके है। चौथा कलमा हिंदी, अरबी और रोमन इंग्लिश में भी लिखा गया है।

Panchwa Kalma Hindi के साथ पंचवा कलमा का तर्जुमा हिंदी में भी जानेंगे। पंचवा कलमा को कलमा इस्तिग़फ़ार (Kalma Istighfar) भी कहते है। अगर आप पांचवा कलमा (Kalma Istighfar in Hindi) की फ़ज़ीलत और पंचवा कलमा की दलील जानना चाहते है तो इस आर्टिक्ल पंचवा कलमा हिन्दी में को पूरा पढ़े। पंचवा कलमा को पंजुम कलमा (Panjum Kalma Tamjeed) भी कहते है।

Panchwa Kalma in Hindi | पंचवा कलमा हिन्दी में

अस-तग फ़िरूल-लाहल-लज़ी लाइला-ह इल्ला हु-वल हय-युल कय्यूमु व-अतू-बु इलैह।

(अबू दावूद 1517)

अल्हमदु लिल्लाह हमने पांचवा  कलमा हिंदी में पढ़ लिया हे अब हम पंचवे कलमे का हिंदी अनुवाद पढ़ेंगे।

Panchwa Kalma Ka Tarjuma Hindi Mein | पांचवा कलमा हिंदी अनुवाद

में अल्लाह से क्षमा मांगता हुं, जिसके सिवा कोई इबादत के लाइक़ नहीं जिंदा, क़ययूम, और में उस से तोबा (पछतावा) करता हूं।

Panchwa Kalma in Roman English | पंचवा कलमा

As-tag firullaahal lazee laa ilaaha illaa huwal hayyul qayyoo-mu wa atoobu ilaih

Panchwa Kalma in Arabic | पंचवा कलमा

أَسْتَغْفِرُ اللَّهَ الَّذِي لاَ إِلَهَ إِلاَّ هُوَ الْحَىُّ الْقَيُّومُ وَأَتُوبُ إِلَيْهِ

पांचवा कलमा इस्तग़फार के बारे में

पांचवा  कलमा के नाम से कहीं पर क़ुरआन और हदीस में कोई चीज़ नहीं आइ है। बल्कि ये एक दुआ हे जिस को पढ़ कर हम अपने पापो से क्षमा मांग सकते हैं अल्लाह से।

इस्तिगफ़ार का अर्थ: ये अरबी शब्द हे जिसका अर्थ हे पछतावा करना, अर्थात् अपने पापो और कसूरों के लिए अपने रब से क्षमा मांगना। और बखशिश मांगना।

पांचवा कलमा के फायदे हदीस | Panjum Kalma in Hindi

5 Kalma in Hindi Fayde: “नबी अकरम सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के गुलाम ज़ैद रज़ियल्लाहु अन्हु कहते हें कि उन्होंनें आप सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम को कहते हुए सुना जिसने [अस-तग फ़िरूल-लाहल-लज़ी लाइला-ह इल्ला हु-वल हय-युल कय्यूमु व-अतू-बु इलैह ] कहा तो उसके पाप माफ़ करदिए जाएंगे अगर वो युद्ध के मैदान से भाग गया हो” (अबू दावूद 1517)

Kalma Hindi Mein

Pehla Kalma पहला कलमा
Dusra Kalma दूसरा कलमा
Teesra Kalma तीसरा कलमा
Chautha Kalma चौथा कलमा
Panchwa Kalma पांचवा कलमा
Chatha Kalma छठा कलमा

Panchwa Kalma Ki Tafseer

अगर आप पांचवा कलमा पढ़ते है इस्तिग़फ़ार के लिए तो आप पांचवा कलमा पढ़ सकते हें। पांचवे कलमे में भी अपने पापों से क्षमा मांगी गई है।

पांचवे कलमे के अंदर अल्लाह से पापों की माफ़ी मांगी गई है और इंसान को चाहिए के वो उसी से माफ़ी मांगे उसके सिवा कोई माफ़ करने वाला नहीं है।

और वो ज़िंदा है और हमेशा ज़िंदा रहेगा आदमी का इस बात पर पूरा पक्का यक़ीन होना  चाहिए। और हर चीज़ पर क़ादिर है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!